Wednesday, September 28, 2022

नारियल के छिलके से घर पर ऐसे बनाएं खाद, पौधों में होगा खूब ग्रोथ और उत्पादन भी बम्पर होगा: कोकोपीट

जैसा कि हम सभी इस बात से भलि-भांति परिचित हैं कि किस तरह केमिकल युक्त उर्वरक से निर्मित उत्पाद हमारे शरीर को क्षति पहुंचा रही है। जिस कारण लोग ये प्रयास कर रहे हैं कि वह अपने खेतों में जैविक खाद का उपयोग कर फसल उगाएं। जिसमें कुछ लोग इसके खर्चे से डरते हैं और कोशिश करते हैं कि वह स्वयं ही जैविक खाद का निर्माण कर लें। जैविक खाद में कोकोपीट की अपनी एक अलग भूमिका है और इसके अनेकों लाभ हैं। बहुत से लोग खुद कोकोपीट का निर्माण करते हैं। कुछ लोगों को ये जानकारी नहीं होती कि वह कोकोपीट का निर्माण कैसे करें??

अगर आप भी स्वस्थ रहना चाहते हैं और जैविक खाद का निर्माण करते हैं और चाहते हैं कि स्वयं कोकोपीट का निर्माण करें तो हमारे लेख पर बने रहें। इस लेख में हम आपको यह बताएंगे कि किस तरह अपने घर पर आसानी से स्वयं ही कोकोपीट का निर्माण किया जा सकता है। इस लेख के अतिरिक्त आप एक वीडियो भी देखेंगे जिससे कोकोपिट बनाने की सारी प्रक्रिया आपको समझ आ जायेगी।

यह भी पढ़ें:-बुजुर्गों का अकेलापन दूर करने के लिए इस शख्स के आईडिया पर रतन टाटा हुए फिदा, दे दी फंडिंग

थोड़ी लागत और थोड़ी मेहनत से बनाएं कोकोपीट

आज के दौर में कोकोपीट बहुत महंगा बिक रहा है क्योंकि इसका अपना एक अलग ही महत्व है। इसका उपयोग हर गार्डेनर नहीं करता है क्योंकि ये जैविक खाद, वर्मी कम्पोस्ट तथा नीम की खल्ली से भी ज्यादा महंगा बिकता है। लेकिन आप स्वयं ही कोकोपीट का निर्माण कर सकते हैं बस थोड़ी सी मेहनत से।

वीडियो देखें:-👇👇

शून्य लागत में मिलेगा नारियल का छिलका

इसके लिए आपको सबसे पहले नारियल का छिलका लेना है फिर आपको इसे बारीकी से अलग कर लेना है। ये छिलका आप मन्दिर से ले सकते हैं क्योंकि ये वहां कचरे में फेंका हुआ रहता है या फिर आप चाहे तो इसे मार्केट से भी खरीद सकते हैं। अब आप उन्हें कैंची या कटर की मदद से छोटे-छोटे टुकड़े में काट लें। अब आपको एक मिक्सर का जार लेना है और इसमें इन नारियल के छिलके की पिसाई करनी है। फिर इसके बुरादे को एक छलनी की मदद से बाहर निकाल लेना है।

यह भी पढ़ें:-प्यार में धोखे को बनाई सफलता की सीढ़ी, पटना में 4 चाय स्टॉल खोल आज लाखों रुपये महीने में छाप रहे हैं: Bewafa Chai Wala

हो चुका है उर्वरक का निर्माण

अब आप इन महीन बुरादों में थोङा पानी डालें और उसे ऐसे ही रहने दें। इसमें आपको हल्का पानी डालकर थोड़ा देर के लिए छोड़ देना है। ध्यान रहे पानी की मात्रा ज्यादा नहीं होनी चाहिए वरना ये खराब हो सकता है। अगर पानी कम लगता है तो आप इसमें और पानी डाल दें फिर इसे राउंड शेप देते हुए सारे पानी को निचोड़ लेना है। अब जो पानी बचे उसे आप किसी गमलें मे डाल सकते हैं ये अच्छा वर्क करेगा।

बचा हुआ पानी और रेशे भी है उपयोगी

अब इसका जो छिलका है उसे आप किसी गमले में रखकर उस पर अच्छी तरह अगर पानी डालकर इसे संयोजित कर दें तो भी ये पौधे के लिए उर्वरक का काम करेगा और आपके पौधे के लिए बेहतर होगा। आपने जो कोकोपीट बनाई है उसे आप कहीं भी गमले में अच्छी तरह रखने के बाद पौधे को लगा दें।