Wednesday, September 28, 2022

जमीन बेचकर पिता ने पढाया, बेटे ने हासिल की सफलता, Google ने दिया 1 करोड़ का पैकेज

हमारे देश के युवा जी-तोड़ मेहनत करते हैं ताकि वह सफलता हासिल कर अन्य युवाओं के लिए प्रेरणास्त्रोत बन सकें। साथ ही वह हर सम्भव ये प्रयास करते हैं कि वह अपने पथ पर अडिग रहें और मार्ग में आए बाधाओं का तोड़ते हुए अग्रसर होते रहें। उन्हीं युवाओं में से एक हैं बेगूसराय (Begusarai) के ज्योतिष कुमार (Jyotish kumar) जिन्होंने विश्व स्तर पर अपनी पहचान बनाकर युवाओं को अपने सपने साकार करने हेतु मेहनत करने के लिए जागरूक किया है। उन्हें गूगल की तरफ से करोड़ों रुपए का वार्षिक पैकेज मिला है।

ज्योतिष को मिला गूगल से ऑफर

ज्योतिष कुमार (Jyotish Kumar) बेगूसराय (Begusarai) से ताल्लुक रखते हैं। उनके पिता बच्चों को शिक्षा देते हैं और वह शिक्षक हैं। उनके पिता का नाम ललित कुमार (Lalit Kumar) ज्योतिष को अपने संघर्ष के बदौलत गूगल में जॉब मिला है और वह अपनी ड्यूटी ज्वाइन कर चुके हैं। उन्होंने अपने सांस्कृतिक वातावरण तथा आर्थिक स्थिति से जुड़ी हर जानकारी को गूगल मीट द्वारा अपने सहकर्मियों और ऑफिसर्स से रूबरू होकर जानकारी शेयर की।

जमीन बेचकर कराया पिता ने बेटे का कराया एडमिशन

ज्योतिष का जन्म वर्ष 1991 के 15 अक्टूबर को हुआ। उन्होंने अपनी शुरुआती शिक्षा सम्पन्न करने के बाद कॉलेजिएट स्कूल से 10वीं की डिग्री हासिल की फिर उन्होंने इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की और यह निश्चय किया कि वह इंजीनियर बनेंगे। परन्तु घर की आर्थिक स्थिति सही होने के कारण उन्होंने अपना पैर खींचना चाहा। लेकिन जब इस बात की जानकारी उनके पिता को लगी तो उन्होंने अपनी भूमि बेंचकर अपने बेटे को पढ़ाना तय किया है। भूमि की राशि से उन्होंने अपने बेटे का एडमिशन हरियाणा के एनआईटी कुरुक्षेत्र में कराया।

यह भी पढ़ें:- MBA, B.tech की पढ़ाई करने के बाद नहीं लगा नौकरी में मन तो शुरु किया खेती, अब 15 करोड़ की कमाई कर रहे

किया पढ़ाई के साथ जॉब

अब ललित ने स्कूल के साथ ट्यूशन भी शुरू कर दी ताकि उनकी आर्थिक स्थिति ठीक हो सके। ज्योतिष भी जी-तोड़ मेहनत करने लगे और बीटेक की डिग्री हासिल कर एमटेक किया। ये सफर यहीं खत्म नहीं हुआ उन्होंने आईआईटी दिल्ली से पीएचडी की डिग्री हासिल की। फिर उन्होंने एक कम्पनी में जॉब भी मिली जहां उनकी सैलरी 22 लाख रुपए थी। लेकिन उन्होंने पढ़ाई नहीं छोड़ी और जी-तोड़ मेहनत करते रहे।

आगे उनका चयन गूगल के एक्सपीरियंस रिसर्च के पद पर हुआ। उन्होंने इसके लिए इंटरव्यू दिए और एग्जाम पास किया। अब कंपनी द्वारा उन्हें लैपटॉप के साथ सिस्टम मिला और उन्होंने यहीं से अपनी ड्यूटी की प्रक्रिया शुरू कर दी। अब वह बहुत ही जल्द गूगल के लिए ऑफलाइन कार्य भी करेंगे।

परिवार में है खुशी का माहौल

ज्योतिष ये कहते हैं कि मैं इस बात से बेहद खुश हूं कि मुझे गूगल ने इस काबिल समझा। वहीं उनके माता-पिता भी अपने बेटे की उपलब्धि से बेहद खुश हैं और उनके परिवार में खुशी का माहौल बना हुआ है। अब ज्योतिष का पूरा वक्त गूगल के लिए होगा और वह अपने ड्यूटी को पूरा करेंगे।