Saturday, December 3, 2022

किसी ने बेची सब्जी तो कोई है अनाथ, स्ट्रीट चाईल्ड फुटबॉल विश्व कप में भाग लेंगी भारत ये लड़कियां

आज 21 वीं सदी की बेटियां हर क्षेत्र में अपनी सफलता का ध्वज लहराने में कामयाब हैं। वह उन लोगों को यह प्रत्यक्ष रूप से आभास करा रही है कि आज बेटियां, बेटों से कम नहीं है। वैसे तो आपने बहुत सी बेटियों की कहानी सुनी है जो प्रेरणा स्रोत है। परन्तु आज हम आपको कुछ ऐसी बेटियों के विषय में जानकारी देंगे जिनमें से कोई अनाथ है तो किसी ने सब्जी बेचकर अपनी आजीविका चलाई है। लेकिन आज वही बेटियां अपने परिश्रम के बदौलत स्ट्रीट चाइल्ड फुटबॉल वर्ल्ड कप (Street Child Football World cup) में हिस्सा लेकर यहां भी अपने जीत का ध्वज लहराने में कामयाब होंगी। -Street Child Football World cup

टीम की कप्तान बेचते थे सब्जी

अगर हम उनके टीम लीडर के विषय में बात करें तो उनका नाम संध्या (Sandhya) हैं जिन्होंने अपनी आजीविका के लिए सब्जी बेचना प्रारंभ किया। वहीं सब्जी बेचने वाली संध्या आज 6 से 16 अक्टूबर के बीच आयोजन किया जाने वाला प्रोग्राम स्ट्रीट चाइल्ड फुटबॉल कप (Street Child Football World cup) में इंडियन टीम के कप्तान के तौर पर खेल का कमान संभालने वाली है। संध्या अपने मां के साथ चेन्नई में रहती हैं और वह बेसहारा है। -Street Child Football World cup

यह भी पढ़ें:-ग्रो बैग्स के इस्तेमाल से जुड़ी इन बातों को अवश्य जान लें, होगा फायदा: महत्वपूर्ण जानकारी

ऐसा नहीं है कि इस टीम में संध्या ही एकमात्र ऐसी लड़की है जो बेसहारा है बल्कि इनमें प्रिया (Priya) का भी नाम शामिल है। प्रिया की उम्र अभी 17 वर्ष की है और वह अनाथ हैं। उन्होंने अपने माता-पिता का प्यार कभी नहीं मिला। परंतु आज संघर्ष की बदौलत हो इंडिया टीम के लिए खेल रही है। उम्मीद है कि वह इसमें भी अपनी मेहनत से सफलता हासिल कर अन्य युवतियों की मनोबल बढ़ाएंगी। -Street Child Football World cup

आश्रम ने दिया हुनर को प्रदर्शित करने का अवसर

अगर हम प्रिया के बारे में बात करें तो वह रोयापूरा गर्ल्स हायर सेकेंडरी स्कूल में पढ़ाई कर रही है। अभी वह 12वीं कक्षा में है। बच्चों को यह सफलता यहां के करुणालय आश्रम की बदौलत मिला है। अजीम प्रेमजी फाउंडेशन ग्रेटर चेन्नई कॉरपोरेशन तथा अमोस ट्रस्ट यूके की सहायता से करुणालय आश्रम में मौजूद इन बच्चों को अंतर्राष्ट्रीय लेवल के कंपटीशन में पार्टिसिपेट करने का अवसर प्राप्त हुआ है। इन्हें एक कोंच की सहायता से खेलने के लिए तैयार किया जा रहा है। -Street Child Football World cup

यह भी पढ़ें:-एक मजदूर के बेटे ने पाई 2.5 करोड़ की स्कॉलरशिप, आगे अमेरिका से करेंगे पढाई

24 देश है कम्पटीशन में शामिल

जानकारी के अनुसार स्ट्रीट चाइल्ड प्रतियोगिता में 24 देश की टीम शामिल होने वाली है। जिसमें बोलिविया, बंगलादेश, पेरू, ब्राजील, फिलिस्तीन, हंगरी, कतर, अमेरिका, मेक्सिको, कोलंबिया, इंडिया, इंग्लैंड,पाकिस्तान, तंजानिया, बुरुंडी, नेपाल,सूडान, मिस्र, युगांडा, हर्जेगोविना आदि शामिल है। -Street Child Football World cup

वैसे तो अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता 4 वर्षों के अंतराल में होती है जिसका आयोजन यूके की स्ट्रीट चाइल्ड यूनाइटेड (UK Street child United) द्वारा होता है। वहीं इस बार फीफा वर्ल्ड कप से 1 माह पूर्व इसका आयोजन होने वाला है। उम्मीद है कि हमारे देश की बेटियां इस खेल में सफलता हासिल कर जीत पर अपना बर्चस्व कायम कर किताब अपने नाम करेंगी। –Street Child Football World cup