Saturday, December 3, 2022

विदेश की नौकरी छोड़कर लौटी स्वदेश और कठिन मेहनत से पहले IPS बनीं और फिर IAS: Garima Agrawal

आजकल के युवाओं में यूपीएससी को क्रैक कर आईएएस और आईपीएस बनने का जुनून बहुत देखा जा रहा है। परंतु हम सभी इस बात से भली-भांति अवगत है कि UPSC का एग्जाम सबसे कठिन एग्जाम माना जाता है इसको पास करना हर कैंडिडेट की नसीब में नहीं होता। परंतु हमारे देश के कुछ युवा ऐसे भी हैं जो अपने सपने को साकार करने के लिए एड़ी चोटी का जोर लगा देते हैं और बार-बार मिली असफलताओं से सीख लेते हुए सफलता की ऊंचाई पर पहुंच कर अन्य युवाओं का मनोबल बढ़ाते हैं।

आज की हमारी यब कहानी एक ऐसी युवती की है, जिन्होंने कभी विदेश में नौकरी किया और फिर स्वदेश लौट कर अपने सपने को साकार करने के लिए यूपीएससी की तैयारी की। आगे उन्हें सफलता मिली और आईपीएस बनी और उन्होंने आखिरकार आईएएस की उपाधि हासिल कर करोड़ों युवाओं के लिए प्रेरणास्प्रद बनी। -Success story of IAS Garima Agrawal

आईएएस गरिमा अग्रवाल

उनका नाम है गरिमा अग्रवाल (Garima Agrawal). जहां हमारे देश की युवा अथक प्रयास के बावजूद भी यूपीएससी को क्रैक नहीं कर पाते वही गरिमा ने अपने पहले ही कोशिश में यूपीएससी को क्रैक कर आईपीएस की उपाधि हासिल की और दूसरे कोशिश में उन्होंने आईएएस की उपाधि हासिल की। गरिमा मध्य प्रदेश से ताल्लुक रखती हैं और वह शुरू से ही काफी तेज-तर्रार थी। उन्होंने अपनी प्रारंभिक शिक्षा खरगोन के सरस्वती विद्या मंदिर से संपन्न की। उन्होंने दसवीं में 92 तथा 12वीं में 89 फ़ीसदी मार्क्स लाए थे। -Success story of IAS Garima Agrawal

किया जर्मनी का सफर तय

आगे उन्होंने जेईई का एग्जाम क्रैक किया जिसके बाद उनका एडमिशन आईआईटी हैदराबाद में हो गया, जैसे ही उन्होंने इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की उन्हें जर्मनी में इंटरशिप मिला। वह चाहती तो विदेशों में जाकर मल्टीनेशनल कंपनी में जॉब कर सकती थी परंतु वह अपने देश में रहकर देश की सेवा करना चाहती थी इसलिए उन्होंने इंडिया आकर यूपीएससी का एग्जाम दिया और आईएएस ऑफिसर बनी। -Success story of IAS Garima Agrawal

यह भी पढ़ें:-Da-Hong Pao: ये है विश्व की सबसे महंगी चायपत्ती, सोने से भी 20 गुना अधिक है इसकी कीमत

बनी आईपीएस ऑफिसर

यूपीएससी की तैयारी के लिए उन्होंने लगभग डेढ़ वर्षो तक की और इसमें पूरी जी जान लगा दी। इसलिए उन्होंने पहले ही प्रयास में सफलता हासिल कर ली। उन्होंने वर्ष 2017 में यूपीएससी का एग्जाम दिया 240वीं रैंक हासिल की जिसके उपरांत वह आईपीएस पोस्ट पर तैनात हुई। -Success story of IAS Garima Agrawal

ट्रेनिंग के दौरान किया आईएएस बनने की तैयारी

वह आईपीएस तो बन चुकी थी परंतु इससे संतुष्ट नहीं थी क्योंकि उनका सपना आईएएस बनने का था। गरिमा ने एक बार फिर से यूपीएससी की तैयारी प्रारंभ की और एग्जाम दिया। इस दौरान वह अपने ट्रेनिंग भी पूरी कर रही थी उनकी आईपीएस की ट्रेनिंग हैदराबाद के सरदार वल्लभभाई पटेल पुलिस अकैडमी में चल रही थी। -Success story of IAS Garima Agrawal

यह भी पढ़ें:-अजीबो-गरीब भंडारा: 700 हलवाई मिलकर बना रहे हैं लाखों लोगों का भोजन, ली जा रही है JCB और सीमेंट-कंक्रीट मिक्सर की मदद

बनी आईएएस अधिकारी किया सपना साकार

उन्होंने वर्ष 2018 में सब एक बार पुनः युपीएससी का एग्जाम दिया जिसमें उन्हें 40वीं रैंक हासिल हुई और उन्होंने अपने सपने को साकार किया। अब गरिमा आईपीएस से आईएएस ऑफिसर बन चुकी थी। इसके साथ ही वह हज़ार युवाओं के लिए प्रेरणास्प्रद भी बनी हुईं। –Success story of IAS Garima Agrawal