Thursday, February 2, 2023

शिमला मिर्च की खेती से यह किसान कमा रहा है सालाना 1 करोड़ रूपए, लोगों को ट्रेनिंग भी देते हैं

आजकल जहां अधिकांश लोग खेती को अपना करियर चुन रहे हैं वहीं कुछ लोगों को तकनीक के इस युग में भी खेती घाटे का सौदा लगता है। हालांकि, खेती के बारें में अनुभव न होने से एक-दो बार नुकसान हो सकता है लेकिन यदि कोई व्यक्ति जानकारी के साथ खेती करे तो वह दोगुना लाभ भी कमा सकता है और इस बात को कई किसान भाइयों ने सत्य साबित कर दिखाया है। उन्हीं में से एक किसान भाई आलोक हैं जिन्होंने पहली बार घाटा सहने के बाद भी हार नहीं मानी और परिणामस्वरुप सालाना करोड़ों की कमाई करने लगे।

शिमला मिर्च की खेती से कमाते हैं करोड़ों रुपये सालाना

आलोक (Alok), उत्तरप्रदेश (Uttarpradesh) के इटावा के बसरेहर थाना क्षेत्र के चकवा बुजुर्ग गांव के निवासी हैं और पेशे से एक किसान भी हैं। आलोक दिव्यांगता को मात देकर खेती के क्षेत्र में नया मिसाल कायम कर रहे हैं। वह शिमला मिर्च (Capsicum Farming) की फसल उगाते हैं, जिससे उन्हें सालाना 1 करोड़ की मोटी कमाई होती है जिसमें से उन्हें 85 लाख का मुनाफा होता है। Uttar Pradesh Farmer Alok earns 1 Crore annually by Capsicum Farming.

30 वर्षीय आलोक (Uttarpradesh Farmer Alok) बचपन में ही पोलियो के शिकार ही गए थे जिस वजह उन्हें शुरु से दिव्यांगता से जूझना पड़ा है। उनकी मां और बहन भी विकलांगता की शिकार हैं। उनके जीवन में एक समय ऐसा आया जब उनके परिवार पर आर्थिक संकट आ गिरी। ऐसे में तीन भाई-बहन समेत परिवार का जीवनयापन काफी मुश्किल था। हालांकि, उनके परिवार के पास 5 बीघा जमीन थी जिसपर उनके पिता खेती करके अपने परिवार का जैसे-तैसे भरण-पोषण कर रहे थे।

यह भी पढ़ें:- कश्मीर के किसान ने इटालियन सेब की खेती से पाई सफलता, तरह-तरह प्रबंधन तकनीकों को अपनाते हैं

कैसे आया शिमला मिर्च की खेती करने का ख्याल?

आर्थिक तंगी के उस दौर में आलोक को एक अखबार के जरिए शिमला मिर्च की खेती (Shimla Mirch Ki Kheti) के बारें में जानकारी मिली। उस अखबार में खेती से जुड़ी जानकारियां भी दी गई थी जिसे पढ़ने के बाद उन्होंने इसकी खेती करने का फैसला किया। उसके बाद उन्होंने एक बीघा भूमि पर इसकी खेती की शुरूआत की लेकिन अधिक और अच्छी तरह से जानकारी होने की वजह से उन्हें नुकासान का सामना करना पड़ा।

शिमला मिर्च की पहली खेती में अधिकांश फसल खराब हो गई और उन्हें बेहद निराशा हाथ लगी। हालांकि, इस कोशिश ने उन्हें समझा दिया था कि यदि जानकारी के साथ इसकी खेती की जाएं तो बढ़िया मुनाफा कमा सकते हैं। लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी और फिर से उठ खड़े होने की हिम्मत दिखाई।(Shimla Mirch Ki Kheti) उन्होंने दोबारा इसकी खेती की और इस बार उन्हें सफलता मिली। इसी तरह धीरे-धीरे उन्हें फायदा होने लगा।

40 बीघे की खेती से हुई 1 करोड़ की कमाई

आलोक ने जब देखा कि अब खेती से मुनाफा हो रहा है तो उन्होंने उसका दायरा बढ़ाने का फैसला किया। उसके लिए उन्होंने सोशल मीडिया के माध्यम से इसकी खेती के आधुनिक तकनीक को अपनाया और जैविक पद्धतिके आधार पर खेती की। हालांकि, इसके लिए उन्होंने किसी दूसरे की जमीन को किराए पर लिया और 15 लाख रुपये की लागत खर्च करके 40 बीघे में शिमला मिर्च की फसल उगाई। इस बार उन्हें 1 करोड़ की मोटी कमाई हुई जिसमें से लागत निकालकर 85 लाख का शुद्ध मुनाफा हुआ।

यह भी पढ़ें:- 10वीं पास किसान ने खजूर की खेती से बदली किस्मत, लाखों रुपए की कर रहे कमाई

किसानों को शिमला मिर्च की खेती के लिए करते हैं प्रशिक्षित

खेती में अपार सफलता मिलने के बाद अब कई किसान आलोक से खेती की ट्रेनिंग लेने आते हैं। आलोक ने बताया कि, उनके इलाके के 500 से अधिक किसान खेती करने के बारें में जानकारी ले रहें हैं। इसके अलावा आलोक शिमला मिर्च की खेती के साथ-साथ शिमला मिर्च के पौधें की नर्सरी भी लगाया है जो 17 एकड़ में फैला हुआ है। उनके नर्सरी में से पौधों मा वितरण उन किसानों में किया जाएगा जो उनके यहां ट्रेनिंग ले रहे हैं। उनसे खेती के गुर सीख कर अन्य किसान भी इस फसल का अच्छा उत्पादन करके बेहतर मुनाफा कमा रहे हैं।

खेती के बारें में बात करते हुए आलोक (Farmer Alok) कहते हैं कि, शिमला मिर्च की खेती Capsicum Farming) में इंटरनेट और सोशल मीडिया का बहुत सहारा मिला। वह कहते हैं कि उन्हें इसकी फसल के बारें में इतनी जानकारी प्राप्त हो गई है कि वे अपने फसल में किसी भी प्रकार के रोग, कीट और कोई अन्य समस्याएँ नहीं आने देते हैं। बहुत ही बारीकी और मेहनत करने की वजह से आज वे करोड़ों की कमाई कर रहे हैं।